Featured

Things you should do when you feel negativity

  1. Every type of persons feel negativity in their daily routine. its normal but sometime its excess is much harmful  to them and they choose a wrong way so there are some steps you should follow when you feel negativity.
  2. Stop whatever you are doing which causes negativity. change the topic or work and do something new which gives you joy.
  3. Stop thinking about your failure and unfulfilled desires sometime it causes of negativity.
  4. Whenever you feel negativity think about your positive thoughts, your achievements, your small success and about the things which gives you joy&pleasure.
  5. Change your mind in other direction do whatever you like
  6. do your hobbies like writing, singing ,painting etc. it will consume your whole negativity and free your mind.
  7. Get motivated by any method like watching motivational videos, inspiring movies like Chak de india, gravity , martian, pursuit of happiness etc there ia lot of movies which fill you with full inspiration.
  8. Go out for picnic or spend time with your friends, family, and relatives which you like mostly and share your problems. they will surely help you
  9. most step is find the root of problem which causes negativity and try to solve it . This step is gives you permanently peace.
  10. listen music it will keep your mind refresh.

live your life.

if you feel these steps are good enough then like , comment and share to help others

best of luck

एक संदेश :देश के नाम 

आज हम जो ये त्योहार मना रहे है। बिना किसी डर के अपनो के साथ, अपने परिवार के साथ । किनकी वजह से?

कभी सोचा है

ये  सरहद पे खड़े देश के सच्चे सेवक उन जवानों के कारण जो रात ओर दिन हमारी रक्षा के लिये खड़े रहते है। क्या कभी सोचा है उनका भी परिवार है,उनके भी बहनें अपने भाई का इंतजार करती होगी। पर वो सरहद पर अपना कर्तव्य निभा रहे है। पर क्या हम अपना कर्त्तव्य निभा रहे है। क्या हमने कभी उनकी भावनाओं को समझने की कोशिश की है।

खेर हमारा तो पता नही पर राजस्थान के रियांबड़ी कस्बे की स्कूली छात्राओं ने उनकी भावनाओं को समझा और अपने हाथों से बनाई गई राखियां डोकलाम में तैनात सारे फ़ौजी भाइयो को भेजी है। साथ ही उनके लिए अच्छे मेसेजेस भी भेजे है। शायद उन्हें त्योहार का असली मतलब पता है।

ऐसी पहल होनी चाहिये जिससे फोजी भाइयो का आत्मविश्वास बढ़ेगा।  उन सरहद के रक्षको को ये  एहसास होना चाहिये कि पूरा देश उनके साथ है । हर समय वो उन्हें याद करता है।

एक सैनिक को कुछ नही चाहिए बस उसे वो आदर चाहिए जिसका वो हक़दार है।

तो जब भी कोई त्योहार या खुशी का पल हो अपने आस पास की आर्मी परिवार को जरूर याद करे।

Jai Himd

Thanks a lot for reading this

Pls share it as fast as you can  
 

संघर्ष और सफलता की अद्भुत दास्तां: कैसे एक पोलियोग्रस्त लड़की दुनियां की तेज धावक बनी।

http://wp.me/p8s4R6-25

संघर्ष और सफलता की अद्भुत दास्तां: कैसे एक पोलियोग्रस्त लड़की दुनियां की तेज धावक बनी।


जब इंसान आगे बढ़ने की ठान लेता है तो उसे कोई भी नही रोक सकता चाहे कितनी ही मुसीबत आये वो अपने लक्ष्य को पा ही लेता है। बस जरूरत है तो थोड़ा सा साहस और इच्छासक्ति कि ऐसी ही एक सच्ची कहानी है एक लड़की की कैसे कठिन समय मे भी वो इतिहास बनाने में कामयाब हुई।

Blanche ओर ed के घर एक अर्धविकसित लड़की का जन्म हुआ। वो दोनों बहुत ग़रीब थे। बस मेहनत मजदूरी करके अपने परिवार का पेट पाल रहे थे।उन दोनों पर उस समय मुसीबतों का पहाड़ टूट गया। जब उन्हें पता चला कि उनकी बची को पोलियो की बीमारी है।वो बहुत गरीब थे पर फिर भी उन्होने उसका इलाज करवाया। इस से उस लड़की का पोलियो तो ठीक हो गया पर उसका बाँया पेर बिल्कुल कमजोर हो गया। डॉक्टर ने उसको leg brace लगा दिया ओर बोले इसके बगैर ये नही चल सकती।

उस लडक़ी को ये बिल्कुल अच्छा नही लगा वो तो खेलना,कूदना चाहती थी।वो इस सहारे के दम पर नही खुद के दम पर जीना  चाहती थी। पर अब वो क्या कर सकती थी।

पर एकदिन वो अपने घर के बाहर बैठी थी और पड़ोस के बच्चों को खेलते हुवे देख रही थी। उनको देखकर उसको भी खेलने का मन हुवा ओर वो अपना leg brace को निकाल कर उठने लगी और गिर गयीं।वो मायूस हो कर बैठ गयी।उसकी माँ उसको देख रही थी। वो अपनी बेटी के पास आकर प्यार से बोली देखो बेटी इस दुनिया मे कुछ भी मुश्किल नही इंसान कुछ भी पा सकता है बस उसके पास उस काम को करने की इच्छाशक्ति और साहस होना चाहिए।फिर क्या था उस लड़की की दबी हुई इच्छा फिर से जाग गयी और उसने ठान लिया की अब वो बिना सहारे के चल कर दिखायेगी। फिर क्या था शुरू हो गया उसका सफर।उसने leg brace खोल दिया और दोस्तो ओर परिवार वालों की सहायता से चलना शुरू कर दिया। इसमे उसको बहुत दर्द होता पर  उसने हिमत नही हारी ओर सालों की कठिन मेहनत के बाद वो धीरे धीरे चल सकती थी पर उसको तो दौड़ना था। तो उसने अपने स्कूल के sport team को join कर लिया। इस दौरान उसको काफी मुश्किलें आयी पर उसने हार नहीं मानी। फिर उसको एक रेस में हिस्सा लेने का मौका मिला। उसमे वो सबसे last आयी इसी तरह उसने कई tournaments में हिस्सा लिया पर हर बार वो last ही आती थी। पर उसने अपने आप को कभी झुकने नही दिया ओर धीरे धीरे उसके प्रदर्शन में सुधार होने लगा। और अपने प्रदर्शन के दम पर वो 1956 के summer olympics में भाग लेने melbourne पहुँच गयी। वहाँ पर उसने 4×100 Riley में   bronze medal जीता।पर वो यही पर नही रुकी उसको तो ओर आगे जाना था। फिर आया 1960 summer ओलिंपिक Rome में इस ओलम्पिक में उसने उस समय की सबसे तेज धावक को हराया ओर बन गयी दुनिया की सबसे तेज धावक ।

उस ओलिंपिक में उसने 3 gold medals जीत के इतिहास बना दिया

उस लड़की का नाम था 1960 के समय की सबसे तेज़ धावक” WILMA RUDOLF”

तो जब इंसान के पास कुछ करने की चाह है तो वो कर के ही रहता है। इसलिए कभी भी हिम्मत मत हारो चाहे कितनी ही परेशानियां क्यों न आये। हमेशा अपने आप पर भरोसा रखो।
अगर ये Post आपको अच्छी लगी तो pls इसको share ,like करे।

इसी तरह को इंस्पिरिंग post के लिए इस साइट को follow करें।

Thanks for reading post 

 

Love

What is love? I heard a lot about it.is it really work.what types of love exist .

Can you define it .

I will try .I think love is a feeling which has many ways .love is one but it has different phases.love is caring  about each other’s.love is way of communication by feeling so we can understand each other .

There are many phases of love like girlfriend,mother,father,family and so on but main is same for all .

It is a powerful thing I think which gives us internal power so we can do anything for our love.it gives a meaning to our life.

That’s it can you better tell me than comment me 

Thanking you